Top 6 Early Signs Of Pregnancy -गर्भवती होने के 6 प्रमुख लक्षण

Top 6 Signs Of Pregnancy / गर्भवती होने के 6 प्रमुख लक्षण 

माँ बनना हर किसी महिला का सपना होता है। ये किसी भी महिला के लिए जीवन का सबसे बड़ा उपहार होता है। सभी बड़ी उत्सुकता के साथ उस पल का इंतज़ार करती है, की कब वो माँ बने कब कोई नन्हा सा मेहमान उनकी ज़िन्दगी में आये। वैसे तो गर्भधारण करने पर कुछ लक्षण साफ़  दिखाई देते है। परन्तु कई बार ऐसा होता हे,  महिलाये शुरूआती समय में गर्भधारण के लक्षणों को समझ नही पाती। जिस कारण स्वास्थ्य सम्बन्धी समस्याओ के होने का खतरा बढ़ जाता है। तो चले हम आपको बताते है गर्भधारण के समय गर्भवस्था के लक्षणों को। 





जब कोई महिला माँ बनने वाली होती है तो, कहा जाता हे, की वह उसका दूसरा जन्म होता है। परन्तु केवल महिला ही दूसरा जन्म नही लेती बल्कि पुरूषों का भी ये दूसरा जन्म माना जाता है। चाहे फिर भ्रूण महिला के भीतर ही क्यू ना पल रहा हो। पुरूष का सहयोग भी उतना ही माना जाता है। कहा भी जाता हे, की एक महिला तभी सम्पूर्ण होती है जब वह गर्भधारण करती है।

First Week Of Pregnancy

माहवारी का ना आना 

हर स्वस्थ महिला को प्रतिमाह माहवारी निश्चित समय या उसके आसपास होती है। परन्तु जो महिलाये गर्भधरण करती है उन्हें गर्भधरण करते ही माहवारी का आना बंद हो जाता है। इसमे कोई परेशानी वाली बात भी नही है, क्यूंकि यह गर्भधारण का सबसे पहला लक्षण माना जाता है 

सिर दर्द करना या चककर का आना 

गर्भवस्था के लक्षणों में ये भी एक खास लक्षण है। सिर का घूमना मतलब चककर आना या सिर दर्द करना वैसे तो सिर दर्द कभी भी हो सकता है। परन्तु हार्मोन के निरंतर बदलाव के कारण तनाव होने लगता है। जिस कारण  कुछ महिलाओ को सिर दर्द की शिकायत होने लगती है।



Early Signs Of Pregnancy

उलटी होना 

गर्भवस्था के दौरान बहुत सी महिलाओ को गर्भवस्था के शुरूआत के 3 माह में मतली आने की समस्या सबसे अधिक होती है। गर्भधारण के प्रारम्भिक लक्षणों में ये सब आता जैसे जी मिचलाना, उल्टी आना, सिर घूमना आदि शामिल होता है। यदि आपको इनमे से कोई भी लक्षण दिखाई दे तो आपको समझ लेना चाहिए की आप गर्भवती है। 


 पहले से अधिक थकान होना 

जब कोई महिला गर्भधारण करती हे, तो गर्भधारण के पहले सप्ताह से ही बहुत अधिक थकान महसूस करने लगती है। सुबह-सुबह के समय में थकान महसूस करना  प्रमुख लक्षणों में से एक माना जाता है। 



स्तनों में भारीपन

गर्भवस्था के दौरान स्तनों में दर्द होने लगता है और स्तनों में भरीपन आने लगता है। जबकि माहवारी से पहले भी स्तनों में दर्द होता है। परन्तु गर्भवस्था के दौरान ये कोमल भी हो जाते है। कुदरती तोर पर स्तनों में भारीपन, आकार में परिवर्तन निपल्स के आसपास के हिस्से में ज़्यादा कालापन आना और स्तनों में नसों का फूलना आदि ये सब गर्भवस्था के लक्षणों में आते है। 

यूरिन का बार बार अाना 

गर्भवस्था के दौरान शुरूआती दिनों में यूरिन बार-बार आता है। क्यूंकि इस दौरान आपका शरीर अतिरिक्त तरल पदार्थ उत्पादित करता है। जिससे की मूत्राशय पर दबाव पड़ता है। इस कारण गर्भवती को महिला को बार बार यूरिन के लिए जाना पड़ता है। 


गर्भवस्था के दौरान चिकत्सक सुझाव में नियमित जांच कराने, पौष्टिक आहार लेने, फल, जूस और खूब सारा पानी पीने आदि का सुझाव देते है साथ ही प्रतिदिन व्यायाम करने का सुझाव भी देते है। ये जो सभी लक्षणों के बारे में हमने आपको ऊपर बताया है। इन सब को ध्यान में रख कर आप सरलता से इस बात का पता लगा सकती हे की आप गर्भवती हे या नही। परन्तु फिर भी एक बार डॉक्टर के पास अवश्य जाए और जांच व रक्त परीक्षण करा ले। ऐसा करने से आप भी पूरी तरह से सन्तुष्ट हो जाती है मन में किसी भी प्रकार की कोई शंका नही रहती।

Thanks for visiting "Top 6 Early Signs Of Pregnancy"  Article. If you like this article than please leave your comment bellow.


loading...