Side Effects Of Laser Eye Surgery -लेज़र आई सर्जरी के फायदे और नुकसान

Side Effects Of Laser Eye Surgery / लेज़र आई सर्जरी के फायदे और नुकसान 


आँखे कुदरत का एक अनमोल उपहार है। आँखे बहुत ही कीमती और संवेदनशील होती है। इसलिए लोग आँखों का विशेष धयान रखते है। यदि आँखों में थोड़ी सी भी परेशानी महसूस हो या फिर सिर में हल्का सा भी दर्द होने पर तुरंत चिकत्सक के पास जाते है। आँखों से कम दिखाई देना या आँखों की अन्य किसी भी समस्या से निजात पाने के लिए लोग पहले चश्मे सहारा लेते थे। चश्मा एक बार लग जाए तो फिर ज़िन्दगी भर चश्मा लगाना ही पड़ता है।

लेज़र आई सर्जरी के फायदे और नुकसान


 परन्तु अब ऐसा नही है विकसित होती तकनिकी ने आँखों के उपचार को आसान कर दिया है। आजकल डॉक्टर चश्मा लगाने वाले लोगो को लेज़र सर्जरी की सलाह देते है। लोग इसका फ़ायदा भी खूब उठा रहे है। तो चलिए हम आपको इसके फायदे और नुक्सान के बारे में कुछ बताते है।  

क्या है लेज़र सर्जरी 

जो लोग चश्मे का इस्तेमाल करते है और उनकी पावर -1 से -10 के बीच है, उन्हें डॉक्टर लेज़र सर्जरी की सलाह देते है। टेस्ट में देख ले की आपके कार्निया की थिकनेस कैसी है। जितनी अधिक थिकनेस होगी उतना ही अधिक फ़ायदा इस सर्जरी का होगा। लेज़र सर्जरी की सबसे अच्छी बात यह हे, की ये और सर्जरी की तुलना में अधिक सरल और बहतर होती है। यह सस्ती भी होती है और इसमे कार्निया को नुक्सान पहुचने का खतरा कम होता है। जबकि अन्य किसी सर्जरी में कार्निया पर खतरा ज़्यादा होता है। 

Benefits Of Laser Eye Surgery

लेज़र सर्जरी के फायदे 

  • 95 % लोग आँखों की समस्या से निजात पाने के लिए लेज़र सर्जरी ही कराते है। क्यूंकि यह आँखों की दृष्टि के लिए बहुत ही फायदेमंद होती है। और अन्य सर्जरी की तुलना में किफायती भी होती है। 
  • लेज़र सर्जरी 20-30 मिनट के बीच में हो जाती है और साथ ही यह सर्जरी आँखों के लिए बहुत ही प्रभावी और करागार मानी गयी है। इसलिए अधिकतर लोग और डॉक्टर लेज़र सर्जरी की सलाह देते है 
  • लेज़र सर्जरी कराने से आँखों और दृष्टि से जुडी सभी समस्याओ और खतरों से बहुत हद तक निजात मिल जाती है। 
लेज़र आई सर्जरी के फायदे और नुकसान

Laser Eye Surgery Risk

लेज़र सर्जरी के नुकसान 

  • लेज़र सर्जरी का सबसे बड़ा खतरा यह होता हे, की यह आपकी इनश्योरेन्स पॉलिसी का हिस्सा नहीं होती है। यानी की इस सर्जरी के दौरान यदि आपकी आँखों को किसी प्रकार का कोई नुक्सान होता भी हे, तो इसकी ज़िम्मेदारी न तो डॉक्टर की होगी और न ही इनश्योरेन्स विभाग की होगी। 
  •  लेज़र सर्जरी आँखों के सबसे सवेदनशील हिस्से में की जाती है। और इस सर्जरी को दोबारा नही किया जा सकता है। 
  • लेज़र सर्जरी के कुछ दिनों के बाद ही लोगो को पढ़ने के लिए तो चश्मे की ज़रूरत पड़ती ही है। 

आँखे बहुत ही कीमती होती हे, इसलिये इससे जुडी किसी भी तरह की सर्जरी कराने से पहले डॉक्टर से सलाह ले। 

Thanks for visiting Side Effects Of Laser Eye Surgery article. If you like this article than please leave comment bellow.