How To Get Rid Of Masturbation हस्थमैथुन से बचने के उपाय, हस्थमैथुन से होने वाले लाभ और हानि

हस्थमैथुन से बचने के उपाय / Tips to avoid masturbation । How to get rid of masturbation | Hastmaithun ki adat ko kaise chudhayen

हस्थमैथुन से बचने के उपाय

हस्थमैथुन! एक ऐसी आदत जो लगभग हर पुरुष में पायी जाती है। देखा जाये तो यह एक अच्छी आदत है लेकिन कहते है की अति हर चीज़ की बुरी होती है वही बात हस्थमैथुन पर भी लागू होती है। हस्थमैथुन के कई लाभ है लेकिन साथ साथ इसके लगातार करने से कुछ बीमारियां भी हो जाती है जो की वैवाहिक जीवन में बहुत नुकसानदेह साबित हो सकती है। 

आजकल के हाई टेक ज़माने में पोर्न मूवीज और इससे मिलती जुलती सामग्री आसानी से उपलब्ध है। आजकल लगभग 10 साल के किशोर भी इस लत के शिकार हो रहे है जोकि भावी पीढ़ी में शारीरिक दुर्बलता को बढ़ावा दे रही है। जिस उम्र में किशोर गेम खेलने में व्यस्त रहते थे आज वही इंटरनेट पर अश्लील फिल्में और अश्लील सामग्री को देख और पढ़ रहे है जिससे वो बहुत छोटी उम्र से ही हस्थमैथुन करने लगते है जोकि बहुत ही गम्भीर समस्या है। 

हस्थमैथुन करने और न करने को लेकर लोगो की अपनी अपनी राय है कुछ लोग इसे बुरा समझते है कुछ सही बताते है। डॉक्टर्स और एक्सपर्ट्स हस्थमैथुन को सही बताते है और इससे किसी भी तरह के शारीरिक नुक्सान को गलत धारणा बताते है जोकि सही भी है। हस्थमैथुन एक तरह से पुरुषों में अपनी कामेच्छाओं को शांत करने का सुरक्षित तरीका है। इसको करने से कई लाभ भी है जैसे की तनाव से मुक्ति, फुर्ती, दिमाग की वृद्धि इत्यादि लेकिन अध्याधिक रूप से इसका इस्तेमाल शारीर और लिंग के लिए घातक है। 

यहाँ हम आपको हस्थमैथुन से होने वाले लाभ और हानि के बारे में बताने जा रहे है। 


हस्थमैथुन से होने वाले लाभ / The benefits of masturbation

  • १. महीने में 4 से 5 बार हस्थमैथुन करने से पुराना वीर्य नए वीर्य से बदल जाता है जिससे शरीर में गतिशीलता आती है और आप अच्छा महसूस करते है। 
  • २. हस्थमैथुन एक तरह से कृत्रिम सेक्स ही होता है, इसलिए ये तनाव कम करता है। हस्थमैथुन के दौरान डोपामाइन (Dopamine) और ऑक्सीटोसिन (Oxytocin) जैसे हार्मोन्स रिलीज़ होते हैं जो उत्तेजित और प्रफुल्लित महसूस करवाते हैं। इससे नींद भी अच्छी आती है और आप खुदको हल्का महसूस करते है। 
  • ३. हस्थमैथुन करने से आप खुदको यौन रोगों से आसानी से बचा सकते है क्यूंकि ये सेक्स का सबसे सुरक्षित तरीका है। 
  • ४. ऑस्ट्रेलिया में हुई एक स्टडी में ये बात सामने आई कि जो पुरूष हफ्ते में 5 से अधिक बार स्खलित होते हैं उनमें प्रोस्टेट कैंसर होने की आशंका कम हो जाती है। हस्थमैथुन से सिस्टम साफ हो जाता है और कैंसर के लिए उत्तरदायी सेल्स निकल जाते हैं।
  • ५. हस्थमैथुन करने से आपकी सेक्स परफॉरमेंस बेहतर होती है। 

हस्थमैथुन से होने वाले नुक्सान / Masturbation losses

  • १. अधिक मात्रा में हस्थमैथुन करना शारीर को कमजोर बनाता है, आँखों के नीचे गड्ढे पड़ जाते है और गाल भी अंदर की तरफ धंस जाते है। 
  • २. वीर्य में पतलापन आता है और लिंग में पर्याप्त तनाव नहीं आ पाता है। 
  • ३. वीर्य का स्खलित होना ओज को कम करता है एवं शरीर एवं मन को दुर्बल करता है।
  • ४. यह बचपन में की हुई भूल है जिसका खामियाजा बड़े होने पर भुगतना पड़ता है।
  • ५. इससे वैवाहिक जीवन में कई दिक्कतें आती हैं जैसे- पत्नी को संतुष्ट न कर पाना, शीघ्र पतन, स्वप्न दोष, लिंग का छोटा एवं पतला होना, वीर्य का कम एवं पतला होना, शुक्रानुओ की संख्या में कमी होना इत्यादि।

हस्थमैथुन से कैसे पाएं छुटकारा / How to get rid of masturbation

  • १. अगर आप बहुत ज्यादा हस्थमैथुन करते है और इस समस्या से छुटकारा पाना चाहते है तो अपनी सेक्स ज़रूरतों को पूरा करने के लिए आपको एक सेक्स साथी की ज़रूरत है। 
  • २. अगर आप ऐसा करने में असमर्थ है तो सबसे पहले आपको खुदको व्यस्त करने की ज़रूरत है जिससे खाली समय में आपके दिमाग में गलत विचार ना आएं। 
  • ३. अगर आप पोर्न फिल्मों के शौक़ीन है तो सबसे पहले आपको ये आदत सुधारने की ज़रुरत है। 
  • ४. किसी भी प्रकार की अश्लील सामग्री से खुदको दूर रखें। 
  • ५. अश्लील विचारों को दिमाग से निकालकर अच्छा सोचें हो सके तो अपनी स्टडी या काम पर ध्यान केंद्रित करें।
  • ६. खुदको कभी अकेला न रहने दे किसी के साथ रहें ऐसा करने से आप खुदको गलत सोचने से बचा सकते है और हस्थमैथुन से भी बच  सकते है। 
अगर यह पोस्ट आपको अच्छी लगी हो तो इस पोस्ट को सोशल मीडिया में शेयर ज़रूर करें और अगर आपको कुछ पूछना हो तो नीचे कमेंट बॉक्स में अपने कमैंट्स हमे लिख भेजें। 
loading...